गलौटी क़बाब या गलावट के क़बाब (Galawat ke Kabab) लखनऊ के बहुत ही प्रसिद्ध क़बाब है। ये बहोत ही सॉफ्ट होते है और मुँह में रखते ही घुल जाते है। गलौटी कबाब का सम्बन्ध लख़नऊ के नवाबो से है। ये सबसे पहले मुख्य रूप से उन नवाबो के लिए बनाये गए थे जिनके दांत नहीं हुआ करते थे। ‘गलौटी’ का मतलब होता है “गलने वाला या घुलने वाला” और ये कबाब अपने नाम को साबित भी करते है क्यूंकि इनकी खासियत ही यही है की ये मुँह में रखते ही घुल जाते है इन्हे चबाने की जरुरत नहीं होती है।

Galawat ke Kabab
गलावट के कबाब

गलावट के कबाब – Galouti Kabab – Galawat ke Kabab

विश्व प्रसिद्ध, मुँह में रखते ही घुल जाने वाले गलौटी क़बाब, ये बहोत ही सॉफ्ट होते है।
4 from 2 votes
Prep Time 30 mins
Cook Time 30 mins
Course Main Course, Snack
Cuisine Indian
Servings 5
Calories 197 kcal

Ingredients
  

  • 1 kg कीमा
  • 200 ml ताजा क्रीम
  • एक गडडी पौदीना (चोप किया हुआ)
  • 1 अन्डा
  • डबलरोटी के स्‍लाइस
  • 4 लॉन्ग
  • 4 हरी मिर्च (कटी हुई)
  • 6 काली मिर्च
  • 6 छोटी इलायची
  • 1 चम्मच सफेद जीरा (साबुत)
  • 1 चम्मच ख़सख़स
  • 1 टी स्पून लाल मिर्च (पिसी हुई)
  • 2 चम्मच कच्चा पपीता (पिसा हुआ)
  • 2 चम्मच चने
  • जायके के मुताबिक नमक
  • तलने के लिए तेल

Instructions
 

  • ब्लेन्डर में चने, जीरा, इलायची, लौंग, काली मिर्च, ख़सख़स पीस लें।
  • कीमा, पिसा मसाला, डबलरोटी बारीक कर लें।
  • एक प्याले में पिसा कीमा, पपीता, क्रीम, नमक, लाल मिर्च, अन्डा, पौदीना, हरी मिर्च मिला कर लम्बे कबाब बना लें।
  • एक भारी तले की कढ़ाई या कढ़ाही में तेल गर्म करें।
  • तेल में यह कबाब फ्राई करें।
  • एक बर्तन में यह कबाब फैला दें।
  • उन्हें एक सर्विंग डिश पर व्यवस्थित करें, नींबू का रस छिड़कें और परोसें।

Video

Notes

Keyword Galawat ke Kabab, Galouti Kabab, Kabab

Nutrition Facts


2 Comments

  • Sonu · May 11, 2020 at 10:19 pm

    3 stars
    Bekar

    Kashish · May 26, 2020 at 2:11 pm

    5 stars
    Good

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Rate this Recipe




    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.